Video आटा युद्ध इन पाकिस्तान, आटा खरीदने को मारामारी, आटा 300 रु किलो तक, चावल…


पाकिस्तान में आटा, चावल और अन्य जरूरत के सामान के दाम आसमान को छू रहे हैं।

पाकिस्तान की आर्थिक हालत बहुत बिगड़ती जा रही है।

आटे का तो ऐसा संकट है कि देखकर कोई भी घबरा जाए।

सोशल मीडिया पर ऐसे ऐसे वीडियो वायरल हो रहे हैं, जिनमें पाकिस्तान में आटे को लेकर मच रहे हा हाकार देखकर आप भी हैरान हो जाएं।

वहीं भारत में 80 करोड़ लोगों को हर महीने 5 किलो गेहूं फ्री।

पाकिस्तान में आई बाढ़ के बाद से पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति बिगड़ती ही जा रही है, आटा, चावल और अन्य जरूरत का सामान इतना महंगा हो गया है कि लोगों के लिए खरीदना मुश्किल हो रहा है।

वहीं कुछ इलाकों में तो आटा संकट इतना ज्यादा बड़ गया है कि आटा खरीदने के लिए लोगों की लंबी कतारें लग गई हैं।

जिसके कई वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, जिनमें पाकिस्तान में यह संकट साफतौर पर देखा जा सकता है।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तो चर्चा का विषय बन गया है। वीडियो में एक आटे से भरे हुए ट्रक के पीछे काफी सारी बाइक जाती हुई नजर आ रही हैं।

देखकर लगता है कि यह बाइक रैली है, जबकि ये सभी बाइक आटा खरीदने के लिए उस ट्रक का पीछा कर रही हैं। सोशल मीडिया पर इस वीडियो को लेकर लोग अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं।

वीडियो को शेयर करते हुए एक ट्विटर यूजर ने लिखा कि, ‘”यह कोई बाइक रैली नहीं है। पाकिस्तान में यह लोग आटे से लदे ट्रक का पीछा कर रहे हैं. इन्हें बस उम्मीद है कि किसी तरह एक कट्टा आटा मिल जाए।”

आटा चावल जैसी कुछ आम चीजें भी इतनी महंगी हो गई है कि गरीब आदमी अब उसे खाने की थाली में नहीं शामिल कर सकता है। लेकिन पेट भरने के लिए यह खरीदना लोगों की मजबूरी बन गई है।

https://www.the95news.com/?p=23085

सिंध, बलूचिस्तान के कई इलाकों में आटे का दाम सीधा आसमान छू रहा है। कई इलाकों में तो आटे का कट्टा 3 हजार पाकिस्तानी रुपयों में बिक रहा है। जिस तरह से महंगाई बढ़ती जा रही है, अब लोगों का जीना भी मुश्किल होता जा रहा है।

खैबर पख्तून्वा इलाके में लोग इतने ज्यादा भड़क गए कि पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ गया। दरअसल, लोगों ने एक आटे से भरे ट्रक को घेर लिया था और ट्रक में सरकारी आटा भरा हुआ था। लोगों ने न सिर्फ ट्रक को लूटने की कोशिश की बल्कि उसके ड्राइवर पर पत्थर भी बरसाए।

सूचना पर पुलिस पहुंची और लोगों पर लाठीचार्ज करने के बाद किसी तरह से वहां से आटा उठाया। सिर्फ एक ही नहीं बल्कि पुलिस कई जगहों पर लोगों को हटाने के लिए इस तरह की कार्रवाई करनी पड़ी।

कई इलाकों में आटे के लिए भीड़ अनियंत्रित हो गई, जिसके बाद किसी तरह पुलिस ने मामले को शांत कराया।

2022 में आई बाढ़ ने पाकिस्तान की आर्थिक हालत को इस कद्र बिगाड़ दिया है कि अब पाकिस्तान की शहबाज शरीफ सरकार का फिर से पटरी पर लौटना मुश्किल लग रहा है। पाकिस्तान की हालत काफी ज्यादा बिगड़ती जा रही है। सभी चीजों के दाम महंगे स्तर पर हैं।

*यह भी पढ़ें-*

*यह भी पढ़ें-*

*यह भी पढ़ें-*

धर्म और संस्कृति