देहरादून (बड़ी खबर) 24 से 27 जनवरी तक उत्तराखण्ड में भारी बारिश-बर्फबारी का अलर्ट जारी, जोशीमठ पर टूट सकता है आफत का पहाड़

देहरादून। पहाड़ी प्रदेश उत्तराखण्ड में 24 से 27 जनवरी को भारी बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई गई है।

राज्य मौसम विज्ञान विभाग ने इसके लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार उत्तराखण्ड में 24 जनवरी से 27 जनवरी तक राज्य में भारी बारिश और बर्फबारी की संभावना है।

*यह भी पढ़ें-*

यहां ऑरेंज अलर्ट-

राज्य मौसम केंद्र द्वारा जारी अलर्ट में बताया गया है कि  24 और 25 जनवरी को उत्तरकाशी, चमोली, पिथौरागढ़, देहरादून, टिहरी, रुद्रप्रयाग और बागेश्वर में भारी बारिश और बर्फबारी का ऑरेंज अलर्ट है।


मौसम विज्ञान विभाग ने जारी की एडवाइजरी-

मौसम विभाग ने इसके लिए एडवाइजरी जारी की है। भारी बारिश के चलते लैंडस्लाइड, रोड ब्लॉक हो सकते है। बर्फबारी और भारी बारिश के चलते पहाड़ों और मैदान में ठंड के और बढ़ने की संभावना है।

भारी बारिश और बर्फबारी की सभांवानाओं के चलते भू-धंसाव की समस्या झेल रहे जोशीमठ में हालात बिगड़ सकते हैं।

बारिश और बर्फबारी से भू-धंंसाव का खतरा और खतरनाक हो सकता है। वहींं जोशीमठ में चल रहे राहत और पुर्नवास के कार्यों में बारिश-बर्फबारी के चलते और मुश्किलें भी खड़ी हो सकती हैं।

*यह भी पढ़ें-*

चमोली जिले के जोशीमठ में हो रहे भू-धंसाव की बात करें तो अब-तक यहां 258 परिवार सुरक्षा को देखते हुए अस्थायी रूप से विस्थापित किये गये हैं। जिनके सदस्यों की संख्या 865 है।

वहीं जोशीमठ में बुधवार को लोकनिर्माण विभाग के डाक बंगले के साथ दो निजी भवनों को तोड़े जाने के आदेश जिलाधिकारी ने दे दिए।

होटल माउंट व्यू, होटल मलारी इन का डिमोलेशन जारी-

अपर जिला सूचना अधिकारी की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार  तोड़े जाने वाले दो मकानों में पांच परिवार रहते थे और असुरक्षित घोषित होने के बाद उन्होंने उन्हें तोड़े जाने की लिखित में सहमति दे दी है।

*यह भी पढ़ें-*

लोकनिर्माण विभाग के डाक बंगले के साथ दो निजी भवनों को तोड़े जाने के आदेश-

इसके अलावा लोक निर्माण विभाग के डाक बंगले को भी वैज्ञानिक तरीके से तोड़ने के आदेश दिए गए हैं।

इससे पूर्व, होटल माउंट व्यू, होटल मलारी इन को वैज्ञानिक तरीके से केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान की निगरानी में तोड़े जाने के आदेश दिए गए थे जिन्हें तोड़े जाने की प्रक्रिया जारी है।

*यह भी पढ़ें-*

*यह भी पढ़ें-*

धर्म और संस्कृति