Breaking: UKSSSC पेपर लीक मामले में अपर निजी सचिव गिरफ्तार, अब तक 16 को पहनाई हथकड़ी : Uttarakhand

देहरादून। यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में गिरफ्तारियों का सिलसिला बढ़ता जा रहा है।

आज शुक्रवार को 1 और गिरफ्तारी के बाद अब तक उत्तराखण्ड एसटीएफ 16 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

शुक्रवार को एसटीएफ ने सचिवालय में नियुक्त हाल अपर निजी सचिव, सूर्य प्रताप निवासी ग्राम निवाड़ मंडी जसपुर जनपद उधम सिंह नगर को गिरफ्तार किया।

न्याय विभाग को पुख्ता साक्ष्य मिलने पर और मामले में संलिप्त होने पर सचिवालय में नियुक्त हाल अपर निजी सचिव, सूर्य प्रताप निवासी ग्राम निवाड़ मंडी जसपुर जनपद उधम सिंह नगर को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया। कुछ दिन पूर्व मुख्य आरोपी आउटसोर्स कंपनी आरएमएस सॉल्यूशन के डाटा एंट्री ऑपरेटर अभिषेक वर्मा को भी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया था।

24 जुलाई 2022 को यूकेएसएसएससी में पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया था। इसके बाद मामले में गिरफ्तारियों का सिलसिला बढ़ता गया और अब तक एसटीएफ 16 लोगों को इस मामले में गिरफ्तार कर चुकी है।

मुख्य आरोपी आउटसोर्स कंपनी आरएमएस सॉल्यूशन के डाटा एंट्री ऑपरेटर अभिषेक वर्मा को भी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया था।


अभिषेक वर्मा की जिम्मेदारी पेपर छपने के बाद सील करने की थी।

लेकिन वर्मा ने तीनों पालियों के एक-एक सेट को टेलीग्राम एप से अपने साथियों को भेज दिया।

वर्मा को इस काम के 36 लाख रुपये मिले थे।

गिरफ्तार अभिषेक वर्मा की एसटीएफ ने न्यायिक रिमांड मांगी थी।

जिसको स्वीकार करते हुए तीन दिन की न्यायिक रिमांड मिली थी।

उत्तराखण्ड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UKSSSC) के पेपर लीक मामले में एसटीएफ लखनऊ के प्रिंटिंग प्रेस के डाटा एंट्री ऑपरेटर अभिषेक वर्मा को तीन दिन की रिमांड पर लेकर लखनऊ रवाना हुई थी। मामले मेें एसटीएफ ने अभिषेक से और अधिक जानकारी जुटाई है।

*यह भी पढ़ें-*

*यह भी पढ़ें-*

*यह भी पढ़ें-*

धर्म और संस्कृति