बड़ी खबर: ऋषिकेश में भाजपा नेता स्मैक के साथ गिरफ्तार, हरिद्वार में भाजपा नेता ने बीजेपी नेता के घर की गोली बारी!

Dehradun: हरिद्वार में एक बीजेपी नेता ने दूसरे बीजेपी नेता के घर पर गोलियां चला दी, तो वहीं ऋषिकेश में भाजपा नेता लाखों की स्मैक के साथ साथियों समेत पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

ऋषिकेश-

भाजपा युवा मोर्चा के जिला सोशल मीडिया प्रभारी सुभाकित रावत स्मैक की तस्करी में गिरफ्तार किए गए हैं।

देहरादून जिले की रायवाला थाना पुलिस ने बीजेपी के युवा नेता को उसके दो दोस्तों के साथ किया गिरफ्तार है।

पुलिस ने तीनों आरोपी दोस्तों से 13 ग्राम स्मैक बरामद की है।

एचपी पेट्रोल पंप के पास खाड़ गांव को जाने वाली सड़क पर चेकिंग के दौरान पुलिस ने इन्हे गिरफ्तार किया है।

पकड़े गए तीनों तस्करों में से एक आरोपी पूर्व में जेल भी जा चुका है।

तीनो आरोपी श्यामपुर ऋषिकेश के रहने वाले है।

हरिद्वार-

भाजपा नेताओं में चली गोली-

हरिद्वार की ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र में स्थित खन्ना नगर में उस समय हड़कंप मच गया जब भाजपा के एक नेता ने दूसरे भाजपा नेता के घर जाकर फायरिंग कर दी।

मामला भापजा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और हरिद्वार विधायक मदन कौशिक के घर के पास का है।

बताया जा रहा है की भापजा के द्वारा अनुराग पैलेस में “हर घर तिरंगा” कार्यक्रम में भाजपा के युवा नेता विष्णु आरोड़ और दीपक टंडन में कहा सुनी हो गई थी। जिसको कार्यक्रम में दोनों को समझा कर शांत करा दिया गया था।

अपने ऊपर हुए हमले के बाद भाजपा युवा नेता दीपक टंडन ने बताया की वो पार्टी के कार्यक्रम से जैसे ही अपने घर पहुँचे तो विष्णु अरोड़ा 40 से 50 लड़को के साथ उसके घर पहुँचा और उसके घर मे तोड़फोड़ करते हुए उस पर फायरिंग कर दी। गनीमत यह रही कि वह समय रहते निचे बैठ गया नही तो गोली उसको भी लग सकती थी।

मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने जाँच शुरू कर दी है और आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

हरिद्वार में विधायक मदन कौशिक के मोहल्ले में शनिवार दोपहर बीजेपी नेता व खादी ग्रामोद्योग के सदस्य दीपक टंडन के घर पर हुई ताबड़तोड़ फायरिंग के मामले में कोतवाली ज्वालापुर पुलिस ने 15 नामजद आरोपियों सहित कई अन्य के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। केस हत्या के प्रयास सहित कई संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में पुलिस ने कनखल वह हरिद्वार क्षेत्र के कुछ आरोपियों को हिरासत में भी ले लिया है। फरार आरोपियों की तलाश में पुलिस की कई टीमें अलग-अलग थाना क्षेत्रों में दबिश दे रही है।

आपको बता दें कि शुक्रवार दोपहर शुरू हुई मामूली कहासुनी शनिवार दोपहर तक गोलीबारी में तब्दील हो गई। भाजपा विधायक मदन कौशिक के बेहद करीबी कहे जाने वाले खादी ग्रामोद्योग के सदस्य दीपक टंडन और भाजपा के युवा नेता विष्णु अरोड़ा के बीच बीते कुछ दिनों से लेकर आपस में काफी तनातनी चल रही थी। आरोप है कि गुरुवार रात विष्णु अरोड़ा ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर दीपक शर्मा नामक युवक की सरेराह पिटाई कर दी थी।

बताया जा रहा है कि यह वीडियो शनिवार सुबह वायरल हुआ, जिस का आरोप विष्णु ने दीपक टंडन पर लगाया। इस बात से गुस्साए विष्णु अरोड़ा ने अपने साथियों के साथ एक कार्यक्रम के दौरान पहले दीपक टंडन की जमकर पिटाई कर दी। वहां से निकल दीपक टंडन अभी अपने घर ही आए थे कि पीछे से अपने साथियों के साथ विष्णु अरोड़ा भी उनके घर पहुंच गया। इससे पहले वे कुछ समझ पाते विष्णु अरोड़ा के साथ आए युवकों ने उनके घर पर ताबड़तोड़ तीन फायर कर दी।

इस दौरान मोहल्ले वाले भी डट कर खड़े हुए तो सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। इस घटना से कोतवाली ज्वालापुर पुलिस में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची एएसपी को भी लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा. इस मामले को बेहद गंभीरता से लेते हुए एसएसपी हरिद्वार डॉक्टर योगेंद्र सिंह रावत ने कोतवाली ज्वालापुर पुलिस को आड़े हाथों लेते हुए सभी आरोपियों के खिलाफ संबंधित धाराओं में तत्काल मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए।

एसएसपी की फटकार के बाद कोतवाली ज्वालापुर पुलिस ने दीपक टंडन की तहरीर पर 15 नामजद आरोपियों सहित कई अन्य अज्ञात आरोपियों के खिलाफ हत्या के प्रयास मारपीट समेत कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। एसएसपी के सख्त होने के बाद कई थानों की पुलिस फरार आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है। पुलिस ने इस मामले में कई नामजद आरोपियों को भी हिरासत में ले लिया है, जिनसे उनके अन्य साथियों के बारे में पूछताछ चल रही है।

बताया जा रहा है कि इस गोलीकांड में गोली चलाने वाला अधिवक्ता पुत्र आरोपी के खिलाफ पूर्व में भी कई धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। लेकिन नाबालिग होने के कारण वह अक्सर पुलिस की गिरफ्त से छूट जाता था। जानकारी मिली है कि अभी कुछ दिन पहले ही वह बरी हुआ है।

इन आरोपियों के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा-

कोतवाली ज्वालापुर पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर विष्णु अरोड़ा, श्रेय शास्त्री, वासु शर्मा, कृष्णा अरोड़ा, लकी भदौरिया, कुशल पाल सैनी, उधम सैनी, विपिन रावत, हेमशंकर, मिनी पेवल, सौरभ वेद, शुभम वशिष्ठ, अमन यादव, कुन्नू पहाड़ी और कुणाल अरोड़ा सहित कई अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 452 307 और 506 के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

*यह भी पढ़ें-*

*यह भी पढ़ें-*

*यह भी पढ़ें-*

धर्म और संस्कृति