कैलाश गहतोड़ी को सौगात, धामी सरकार ने यमुना कॉलोनी मंत्री आवास में आवंटित किया बंगला, सीएम धामी के लिए छोड़ी थी विधायकी

देहरादून। अब दर्जाधारी मंत्री और पूर्व चंपावत विधायक कैलाश गहतोड़ी को धामी सरकार ने एक और सौगात दे दी है।

उत्तराखण्ड की पुष्कर धामी सरकार ने कैलाश गहतोड़ी को यमुना कॉलोनी में बंगला आवंटित किया है।

गहतोड़ी को यमुना कॉलोनी में R-7 बंग्ला दिया गया है, जो पहले पूर्व शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे को आंवटित था।

उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के लिए चंपावत से विधायक की सीट छोड़ने वाले कैलाश गहतोड़ी पर सरकार ने फिर नजरें इनायत की हैं। इस बार गहतोड़ी को देहरादून की यमुना कॉलोनी स्थित सरकारी मंत्री आवास आवंटित किया गया है।

आपको बता दें धामी सरकार ने इससे पहले गहतोड़ी को बड़ी जिम्मेदारी देते हुए वन विकास निगम का अध्यक्ष बनाया हुआ है।अब उन्हें मंत्री आवास आवंटित करते हुए यमुना कॉलोनी में R-7 बंगला दे दिया गया है।

अब पूर्व विधायक और वन विकास निगम के अध्यक्ष कैलाश गहतोड़ी का नया पता यमुना कॉलोनी स्थित R-7 बंगला होगा। कैलाश गहतोड़ी 2022 के विधानसभा चुनाव में चंपावत विधानसभा सीट से विधायक बनकर विधानसभा पहुंचे थे। लेकिन सीएम धामी खटीमा से हार गए थे। इसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के लिए अपनी सीट छोड़ने का फैसला किया। जिसके बाद चंपावत में हुए उप चुनाव में पूरी ताकत लगाते हुए मुख्यमंत्री को बड़ी जीत दिलाने में अहम योगदान भी निभाया।

उत्तराखण्ड राज्य में भाजपा सरकार बनने और पुष्कर सिंह धामी के एक बार फिर मुख्यमंत्री के रूप में चुने जाने के बाद कैलाश गहतोड़ी की इस राजनीतिक कुर्बानी को लेकर भाजपा सरकार भी उनको लेकर गंभीर दिखाई दी है। यही कारण है कि पूर्व विधायक कैलाश गहतोड़ी को सरकार बनने के फौरन बाद सबसे महत्वपूर्ण दायित्व के रूप में वन विकास निगम का अध्यक्ष नियुक्त किया गया।

देहरादून की यमुना कॉलोनी के यह वह बंगले हैं, जहां राज्य के मंत्री रहते हैं। इससे पहले भाजपा की सरकार में शिक्षा मंत्री रहे अरविंद पांडे को यह R 7 बंगला आवंटित किया गया था।

बता दें कि वन विकास निगम के अध्यक्ष अभी इस बंगले में शिफ्ट नहीं हुए। लेकिन इससे पहले ही उनके नाम का बोर्ड इस बंगले के बाहर लगाया जा चुका है। अब इस बंगले को पूरी तरह से नया बनाने के लिए इसमें रिनोवेशन का काम किया जा रहा है। नये फर्श से लेकर दीवारों तक को बेहतर बनाने की कोशिश की जा रही है। पिछले कई दिनों से R7 नंबर के इस बंगले में लगातार कर्मचारी काम में जुटे हुए हैं।

यह भी पढ़ें-

यह भी पढ़ें-

यह भी पढ़ें-

धर्म और संस्कृति