इस जुलाई को शनि मकर राशि में, देखें किन किन राशि वालों पर शुरू होगी शनि की साढ़े साती और ढैय्या

इस जुलाई को शनि देव महाराज फिर से मकर राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। आइए जानते हैं शनि के मकर राशि गोचर से किन राशि के लोग प्रभावित होंगे।

शनि ग्रह 12 जुलाई को मकर राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। 2022 में ही शनि का ये दूसरी बार राशि परिवर्तन है। इससे पहले शनि देव ने 29 अप्रैल को राशि बदली थी। इस दौरान शनि ने मकर से कुंभ राशि में प्रवेश किया था। अब 12 जुलाई को शनि फिर से मकर राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। शनि के मकर राशि में गोचर से किन राशि के लोग प्रभावित होंगे। किन – किन पर शनि की साढ़े साती और शनि की ढैय्या शुरू होगी।

किस – किस पर रहेगी शनि की साढ़े साती और शनि की ढैय्या-

दंडाधिकारी शनि 12 जुलाई से लेकर 17 जनवरी 2023 तक मकर राशि में रहेंगे। इस दौरान धनु, मकर और कुंभ वालों पर शनि साढ़े साती रहेगी। जिसमें धनु वालों पर शनि साढ़े साती का आखिरी चरण रहेगा। मकर वालों पर दूसरा चरण तो कुंभ वालों पर पहला चरण रहेगा। इस दौरान इन तीनों ही राशियों के जातकों को बेहद सतर्क रहना होगा। शनि ढैय्या की बात करें तो इस दौरान मिथुन और तुला वालों पर शनि ढैय्या रहेगी।

शनि को मजबूत करने के उपाय-

शनि की क्रूर दृष्टि से बचना चाहते हैं तो हनुमान चालीसा का पाठ करें। ऐसा करने से शनि साढ़े साती और शनि ढैय्या का बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है।

शनि ग्रह के इन मंत्रों का जाप करें-

1. ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः
2. ॐ शं शनैश्चरायै नमः
3. ॐ शं नो देवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये। शं योरभि स्रवंतु नः

शनि महाराज के बुरे प्रभाव से बचने के लिए तिल, तेल और छायापात्र का दान करें। इसके लिए एक बर्तन में सरसों का तेल लें और उसमें अपनी परछाई देखकर उसे दान कर दें।

शनि देव की कृपा प्राप्त करने के लिए धतूरे की जड़ धारण करें।

*यह भी पढ़ें-*

*यह भी पढ़ें-*

*यह भी पढ़ें-*

धर्म और संस्कृति