चारधाम: तीर्थयात्रियों की संख्या पहुंची 24,57,597, केदारनाथ धाम में मानसून में भी जारी रहेंगी हेली सेवाएं: दिलीप जावलकर

देहरादून। उत्तराखण्ड चारधाम यात्रा वर्ष 2022

दर्शनार्थियों /तीर्थयात्रियों की संख्या
1-श्री बदरीनाथ धाम कपाट खुलने की तिथि  8 मई  से 28 जून शाम तक  879191

•आज शाम चार बजे तक बदरीनाथ धाम पहुंचे श्रद्धालु 4519

2- श्री केदारनाथ धाम कपाट खुलने की तिथि 6 मई से 28 जून शायं तक 818996
(हेलीकॉप्टर से 81937 तीर्थयात्री भी  शामिल)

•शाम चार बजे तक केदारनाथ पहुंचे श्रद्धालु -4374
3-श्री गंगोत्री धाम
कपाट खुलने की तिथि 3 मई से 28 जून तक 428257

• आज शाम तक दर्शन हेतु पहुंचे श्रद्धालु- 2708

4-श्री यमुनोत्री धाम
कपाट खुलने की तिथि  3 मई से 28 जून तक  331153

• आज शायं  तक दर्शन हेतु पहुंचे श्रद्धालु- 1728

  • 28  जून  शाम तक  श्री बदरीनाथ-केदारनाथ पहुंचनेवाले कुल तीर्थयात्रियों की संख्या का योग- 1698187

•  28 जून  शायंकाल तक श्री गंगोत्री-यमुनोत्री पहुंचे तीर्थ यात्रियों की संख्या 759410

•28 जून शायंकाल तक उत्तराखंड चारधाम पहुंचे संपूर्ण तीर्थयात्रियों की संख्या 2457597
( चौबीस लाख  सतावन हजार पांच सौ सत्तानबे )

• श्री हेमकुंट साहिब लोकपाल तीर्थ पहुंचे तीर्थयात्रियों की संख्या कपाट खुलने की तिथि 22 मई से  28 जून  तक – 158254,

मानसून के मौसम में हेली सेवा से श्री केदारनाथ धाम की यात्रा करने वाले ‌तीर्थयात्रियों के लिए अच्छी खबर है। तीर्थया‌त्री मानसून में भी हेली सेवा के माध्यम से श्री केदारनाथ धाम की यात्रा कर सकेंगे। इसके लिए 30 जून के बाद श्री केदारनाथ धाम में हिमालयन कंपनी की ओर से श्रद्धालुओं को हेली सेवाएं दी जाएंगी। जबकि 05 जुलाई तक आर्यन एविएशन की ओर से श्री केदारनाथ धाम में हेली सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

सचिव पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन दिलीप जावलकर ने कहा कि इससे पहले हेली कंपनियों द्वारा मानसून के दौरान सामान्यता श्री केदारनाथ धाम के लिए हेली सेवा बंद कर दी जाती थी।  ऐसे में यह एक सकारात्मक कदम हैं कि बरसात के दिनों में भी तीर्थयात्रियों को हेली सेवा उपलब्ध कराई जाएगी। इसका सीधा लाभ बरसात के मौसम में श्री केदारनाथ धाम आने वाले तीर्थयात्रियों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि हेली सेवा के लिए आवश्यक मानकों का पालन करने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।


गौरतलब है कि श्री केदारनाथ धाम जाने के लिए तीर्थयात्रियों को रुदप्रयाग जिले के गुप्तकाशी, फाटा और सिरसी से हेली सेवा की सुविधा दी जाती है। यहां नौ कंपनियों के माध्यम से हेली सेवा संचालित की जाती है। पहली बार इस साल मानसून में भी श्रद्धालुओं को हेली सेवा उपलब्ध कराने का फैसला लिया गया है। हिमालयन कंपनी की ओर से मानसून के दौरान उड़ान भरने के लिए मौसम अनुकूल रहने की दशा में एक दिन में 30-40 शटल संचालित की जाएंगी। इसमें प्रतिदिन करीब 200 से 250 तीर्थयात्री लाभान्वित होंगे।

*यह भी पढ़ें-*

*यह भी पढ़ें-*

धर्म और संस्कृति