the95news

उत्तराखण्ड एसटीएफ की साइबर क्राइम में बड़ी कार्यवाही, ओडिशा से 15 लाख की धोखाधड़ी करने वाला अपराधी सिद्दीकी गिरफ्तार

देहरादून। मुख्यमंत्री उत्तराखंड के निर्देशों के क्रम में प्रदेश के निवासियों को साइबर अपराधियों द्वारा जनता से ठगने वालो पर सख्त कार्यवाही पर पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड द्वारा एसटीएफ व साइबर पुलिस को प्रभावी कार्यवाही हेतु दिशा निर्देश दिए गए है।

साइबर पुलिस उत्तराखण्ड द्वारा प्रभावी कार्यवाही करते हुये राऊरकेला जनपद सुन्दरगढ (ओडिसा) में दबिश दी गईं। जिसमे STF एवं साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड द्वारा देहरादून से 1700 कि0मी0 दूर भीषण गर्मी व भारत बंद होने व ट्रेने निरस्त होने के बावजूद साईबर अपराधियो की देश भर मे धरपकड जारी रखते हुये साईबर अपराधियो द्वारा फर्जी कम्पनी बनाकर आमजन को आनलाईन ट्रेडिंग की बात बताकर फर्जी बेवसाइट के माध्यम से पैसे कमाने का लालच देकर वादी मुकदमा से हुयी 15 लाख की धोखाधड़ी मे सम्बन्धित अभियुक्त जाकी अहमद को मय धोखाधडी के लिए इस्तेमाल किए गये 01 मोबाइल फोन मय सिम बरामद कर राऊरकेला जनपद सुन्दरगढ (ओडिसा) से किया गिरफ्तार । पूर्व मे इस अभियोग मे सलिंप्त अपराधियो को पजांब के फरीदकोट व भोपाल एंव मुम्बई मे गिरफ्तारी कर वैधानिक कार्यवाही की जा चुकी है । जिसमे क्रिप्टो करेंसी एंव फिल्म इडस्ट्री द्वारा 100 करोड से अधिक का मनी लाड्रिंग अपराध भी प्रकाश मे आ चुका है।

वर्तमान में साइबर अपराधी आम जनता की गाढ़ी कमाई हड़पने हेतु अपराध के नये-नये तरीके अपनाकर धोखाधड़ी कर रहे है। इसी परिपेक्ष्य में साईबर ठगों द्वारा फर्जी कम्पनी बनाकर आमजनो को आनलाईन ट्रेडिंग की बात बताकर फर्जी बेवसाइट के माध्यम से पैसे कमाने का लालच देकर आनलाईन लाखों रुपये की धोखाधडी की जा रही है।

इसी क्रम में एक प्रकरण साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को वर्ष 2021 मे प्राप्त हुआ था। जिसमें शिकायतकर्ता अकिंत कुमार निवासी सुभाष नगर ज्वालापुर हरिद्वार के साथ अज्ञात व्यक्ति द्वारा स्वंय को जीएलसी प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी मे आनलाईन ट्रेडिंग की बात बताकर फर्जी बेवसाइट के माध्यम से पैसे कमाने का लालच देकर आनलाईन कुल 15,00,000/- (पन्द्रह लाख रुपये) की धनराशि धोखाधड़ी से विभिन्न बैक खातो में प्राप्त करने सम्बन्धी शिकायत के आधार पर साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून पर मु0अ0सं0 30/2021 धारा 420/120 बी भादवि व 66(डी) आईटी एक्ट का अभियोग पंजीकृत किया गया था । जिसकी विवेचना साइबर थाने के निरीक्षक श्री त्रिभुवन सिंह रौतेला के सुपुर्द की गयी। जिसमे पूर्व मे दो अभियुक्तो को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।

अभियोग में अभियुक्तों के विरुद्ध कार्यवाही हेतु घटित टीम द्वारा घटना में प्रयुक्त मोबाईल नम्बर, व शिकायतकर्ता से प्राप्त धनराशि की जानकारी प्राप्त की गयी तो प्रकाश में आये अभियुक्तो द्वारा स्वंय को जीएलसी प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी मे आनलाईन ट्रेडिंग की बात बताकर फर्जी बेवसाइट के माध्यम से पैसे कमाने का लालच देकर वादी मुकदमा से धोखाधडी की गयी । मोबाईल नम्बर व खातों की जानकारी से अभियुक्तगणों का राऊरकेला जनपद सुन्दरगढ (ओडिसा) से सम्बन्ध होना पाया गया जिसमें टीम को राऊरकेला जनपद सुन्दरगढ (ओडिसा) व अन्य सम्भावित स्थानो में रवाना किया गया।

पुलिस टीम द्वारा अथक मेहनत एवं प्रयास से अभियुक्तो द्वारा वादी मुकदमा को जो खाता संख्या व मोबाईल नम्बर दिये थे व धोखाधडी से प्राप्त की गयी धनराशि की खातो के खाताधारक की जानकारी प्राप्त की गयी व उक्त खाते का खाताधारक के सम्बन्ध में साक्ष्य एकत्रित करते हुये अभियोग में 01 जाकी अहमद सिद्दिकी पुत्र स्व0 शमून अहमद निवासी नौशाद खान ब्लाक ए-135 सैक्टर -15 थाना व पोस्ट सैक्टर -15 राऊरकेला स्टील टाउनशीप एरिया जनपद सुन्दरगढ (उडिसा) उम्र 45 से गिरफ्तार करते हुये घटना में प्रयुक्त मोबाईल फोन बरामद किया गया।

अपराध का तरीकाः-
अभियुक्त द्वारा फर्जी कम्पनी बनाकर आमजनता को आनलाईन ट्रेडिंग की बात बताकर फर्जी बेवसाइट के माध्यम से पैसे कमाने का लालच देकर आनलाईन धोखाधडी करना व अभियुक्तो व पकडे गये सहअभियुक्त द्वारा भारत के अलग-अलग कोनो मे दर्जनो फर्जी कम्पनी बनायी गयी थी और साईबर अपराधियो द्वारा फिल्मो की स्क्रीनिंग के नाम पर करोडो रुपये क्रिप्टो करेंसी के माध्यम से भारत से बाहर भेजे गये । अपराध मे प्रयुक्त बैवसाईट डिटेल से प्रतीत होता है कि चह बैवसाइट हांगकांग व सिगांपुर मे बनायी गया थी।

गिरफ्तार अभियुक्त-

1- जाकी अहमद सिद्दिकी पुत्र स्व0 शमून अहमद निवासी नौशाद खान ब्लाक ए-135 सैक्टर -15 थाना व पोस्ट सैक्टर -15 राऊरकेला स्टील टाउनशीप एरिया जनपद सुन्दरगढ (उडिसा) उम्र 45 वर्ष

बरामदगी-

1- मोबाइल फोन- 01 मय सिम

पुलिस टीम-

1- निरीक्षक श्री त्रिभुवन सिंह रौतेला

2- उ0नि0 राजेश ध्यानी

3- उ0नि0 राहुल कापडी

4- का0 मनोज बेनीवाल

6- एसटीएफ उत्तराखण्ड

प्रभारी एस0टी0एफ0 उत्तराखण्ड द्वारा जनता से अपील की है कि वे किसी भी प्रकार के लोक लुभावने अवसरो/फर्जी साइट/धनराशि दोगुना करने व टिकट बुक करने वाले अंनजान अवसरो के प्रलोभन में न आयें । किसी भी प्रकार के ऑनलाईन टिकट को बुक कराने से पूर्व उक्त साईट का पूर्ण वैरीफिकेशन स्थानीय बैंक, सम्बन्धित कम्पनी आदि से भलीं भांति इसकी जांच पड़ताल अवश्य करा लें तथा गूगल से किसी भी कस्टमर केयर नम्बर सर्च न करें। आजकल वर्तमान मे ऐसे बहुत सारे आनलाईन लोन देने वाले एप्प आ गये है जिनको RBI द्वारा अधीकृत नही किया गया है । साईबर अपराधी आम लोगो को ऐसे एप्प डाउनलोड करवाकर डाटा एकत्रित कर ब्लैकमेलिंग का प्रयास करते है ऐसे किसी भी लोन एप्प के बारे मे जानकारी प्रप्त होने पर बैंक के सज्ञान मे जरुर लाये। व तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को सम्पर्क करें । वित्तीय साईबर अपराध घटित होने पर तुरन्त 1930 नम्बर पर सम्पर्क करें । इसके अतिरिक्त गिरफ्तारी के साथ-साथ साईबर पुलिस द्वारा जन जागरुकता हेतु अभियान के अन्तर्गत हैलीसेवा वीडियो साइबर पेज पर प्रेषित किया गया है। जिसको वर्तमान समय तक काफी लोगो द्वारा देख कर शेयर किया गया है।

*यह भी पढ़ें-*

*यह भी पढ़ें-*

धर्म और संस्कृति