the95news


Video: चमोली में सुबह बादल फटने से भारी नुकसान, कई घायल भर्ती, दर्जनों वाहन दबे :उत्तराखण्ड

उत्तराखण्ड के चमोली जनपद के नारायणबगड़ ब्लाक के पंती गांव में भारी बारिश और बादल फटने से इलाके भारी तबाही हुई है।

Video-1 देखें-

Video-2 link में जा कर देखें-

https://youtube.com/shorts/5147PkeIU2U?feature=share

सोमवार सुबह 5:30 पर बादल फटने के बाद पहाड़ी से आया भयानक मलबा बारिश के पानी के साथ विकराल रूप लेकर बीआरओ के मजदूरो के आशियानों की तरफ कहर बनकर टूटा जिससे वहां काफी नुकसान हो गया।

गाड़ियां मलवे में दबने व धंसने की भी खबर हैं, वहीं मलवा लोगों के घरों में घुस गया। कई लोग घायल होने की भी सूचना है। जिनका इलाज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नारायणबगड़ में किया जा रहा है।

बारिश के चलते नारायण बगड़ ब्लॉक के पंती के आसपास बज्र पडने से बिजली पावर हाउस के बगल में गधेरा उफान पर आ गया। जिससे कर्णप्रयाग – ग्वालदम राष्ट्रीय राजमार्ग बाधित हो गया। बताया जा रहा है जल स्तर इतना बढा की गाड़ियां भी पार्किंग में खड़ी होने के बाद सड़क पर आ खड़ी हो गई। चारों तरफ बोल्डर ,पानी और मलबा ही मलबा हो गया है। मकानों में भी मलवा भर गया है। साथ ही गधेरे के एक छोर पर बीआरओ के मजदूरों का रेन बसेरा था मजदूरों ने समय रहते अपनी जान बचाई। बज्र पडने से पंती में गधेरे के आसपास रह रहे लोगों को काफी नुकसान हो गया। साथ ही बिजली के पोल टूट गये हैं जिससे क्षेत्र में बिजली भी गुल हो चुकी है।

उत्तराखण्ड पुलिस के अनुसार “आज सुबह लगभग 5:30 बजे चमोली के नारायणबगड़ के पास पंती गदेरे में अतिवृष्टि की सूचना प्राप्त हुई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना में जान माल का कोई नुकसान नहीं हुआ l स्थानीय पुलिस मौके पर मौजूद है, घटना में कुछ लोगों को चोटें आयी हैं जो PHC नारायणबगड़ में उपचाराधीन है।”

खबर है कि एक से डेढ़ दर्जन से अधिक वाहन मलवे में दब गए हैं। बादल फटने की खबर मिलते ही स्थनीय प्रशासन राहत और बचाव कार्य में जुट गया है हालांकि अभी तक जनहानि की की कोई सूचना नहीं है। लेकिन प्रत्यक्ष दर्शी इस बात की आशंका में हैं कि कुछ मज़दूर इस मलबे में दबे हो सकते हैं। प्राप्त तस्वीरें बता रहीं हैं कि काफी नुकसान की संभावना है।

धर्म और संस्कृति