the95news


भगत सिंह कोश्यारी का राहुल गांधी पर तंज, काली टोपी को लेकर कन्फ्यूज, मैंने दो बार बताया RSS के जन्म से पहले से उत्तराखण्डी पहनते हैं

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राहुल गांधी के ज्ञान को लेकर तंज कसा। उन्होंने कहा कि वो मेरी काली टोपी को लेकर कन्फ्यूज थे। कोश्यारी के मुताबिक राहुल गांधी ने उनसे पूछा था कि आप काली टोपी क्यों पहनते हैं? आप आरएसएस से जुड़े हुए हैं?

जिसपर भगत सिंह कोश्यारी ने राहुल गांधी से कहा था कि, काली टोपी उत्तराखण्ड की संस्कृति से जुड़ी हुई हैं।

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने पूरा किस्सा बताते हुए कहा, ‘ जब मैं बीजेपी सांसद था तो उन्होंने पूछा कि आप काली टोपी क्यों पहनते हैं? तो मैंने उन्हें बताया उत्तराखण्ड के लोग काली टोपी पहनते हैं।

लेकिन फिर राहुल ने कहा नहीं…नहीं आप आरएसएस से हैं। तो मैंने कहा कि हां मैं आरएसएस से हूं लेकिन यह टोपी उत्तराखण्ड की है। लोग इसे तब से पहन रहे हैं जब आरएसएस पैदा भी नहीं हुआ था।

दोबारा से काली टोपी के बारे में पूछा-

भगत सिंह कोश्यारी ने आगे बताया, ‘कुछ महीने बाद राहुल गांधी ने फिर से उनकी टोपी के बारे में पूछा, कहा कि यह RSS की टोपी है। मैंने उनसे कहा कि यह आरएसएस की टोपी नहीं है। इसके बारे में मैं पहले भी बता चुका हूं लेकिन उन्होंने इस बात को मानने से इनकार कर दिया।

भगत दा ने आगे कहा कि, फिर मैंने उनसे पूछा कि क्या आपने आरएसएस के बारे में कुछ पढ़ा है? उन्होंने कहा, हां- हां, मैंने सावरकर के बारे में पढ़ा है।’ 

भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि हालांकि सावरकर हिंदुत्व के विचारक थे, लेकिन वे कभी भी आरएसएस में नहीं रहे। इससे राहुल गांधी के ज्ञान का पता चलता है।

राहुल गांधी जैसे नेता होंगे तो हंगामे के लिए तैयार रहना ही होगा

भगत दा ने कार्यक्रम में मौजूद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से कहा कि जब राहुल गांधी जैसे लोग अपनी पार्टी का नेतृत्व करेंगे, आपको हंगामे के लिए तैयार रहना होगा।

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी बीते शनिवार को दिल्ली को कांस्टीट्यूशन क्लब में अपनी पुस्तक ‘भारतीय संसद में भगत सिंह कोश्यारी’ का विमोचन करने के दौरान यह बात कही। वहां केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, अश्विनी कुमार चौबे और बीजेपी के वरिष्ठ नेता श्याम जाजू भी उनके साथ मौजूद रहे।

धर्म और संस्कृति