बड़ा फैसला: उत्तराखण्ड में 8 फरवरी से खुलेंगे कक्षा 6 से 12वीं तक के स्कूल, त्रिवेंद्र कैबिनेट के महत्वपूर्ण फैसले देखें

देहरादून। उत्तराखण्ड सरकार की त्रिवेंद्र कैबिनट की एक महत्वपूर्ण बैठक शनिवार को हुई। शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने इसकी जानकारी प्रेस को दी।

उत्तराखण्ड कैबिनेट में 17 बिंदुओं पर चर्चा हुई, सभी 17 बिंदुओं पर कैबिनेट की मंजूरी मिली।

“ग्राम्य विकास, वन विभाग, आईटी, वित्त, ग्रह, श्रम, भाषा, आबकारी विभाग के विषय आये”

1- मनरेगा में जॉब कार्ड धारकों को खुशखबरी, 100 दिन का काम करने वालो को 50 दिन का अतिरिक्त रोजगार मिलेगा ,
सरकार को 18 करोड़ का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा,

2- सिंगल यूज़ प्लास्टिक के लिए नियम बने,
प्लास्टिक कैरी बैग होगा प्रतिबंधित,
थर्मोकोल से बना सामान प्रतिबंधित होगा,
उपयोग करने पर जुर्माना लगेगा,

3- वन विभाग में स्केलर का विषय अलगी कैबिनेट के लिए रखा गया,

4- साइबर क्राइसिस मैनेजमेंट प्लान राज्य में लागू किया गया,
केंद्र के बनाये प्लान को राज्य ने अपनाया,

5- 8 फरवरी से राज्य में कक्षा 6 से कक्षा 12 तक सभी विद्यालय खोले जायेंगे, विभाग जारी करेगा आदेश,

6- कक्षा 8 से कक्षा 9 में जाने वाली छात्रों को साइकिल के दिया जाना डीबीटी होगा, इस धन से साइकिल ही खरीदी जाएगी,
1456000 का खर्च आएगा,

7- GST का बिल लाओ – ईनाम पाओ योजना को सरकार ने वापस लिया,

8- 2015 से 2019 तक पिटकुल की लेख रिपोर्ट सदन में प्रस्तुत होगी,

9 – पुलिस के कॉस्टेबल भर्ती का बड़ा फैशला,
भर्ती के नियमो में हुआ संसोधन,

10 – मंगलदीप स्कूल अल्मोड़ा को दी गयी निशुल्क जमीन,
.04 हेक्टयर जमीन दी गयी,

11 – कारखाना अधिनियम में हुआ संशोधन,
लाइसेंस के नवीनीकरण का शुल्क होगा ऑनलाइन जमा,

12 – परिवहन विभाग में परिवर्तन कर्मचारी नियमावली में संशोधन,
नए पद सृजित किये गए,

13 – उत्तराखण्ड भाषा संस्थान में विभागीय ढांचों के पुनर्गठन का विषय अगली कैबिनेट में आएगा,

14 – NDRF को नैनीताल में 75 एकड़ जमीन दी गयी,

15 – नगर निगम के सर्किल रेट को लेकर सरकार लाएगी अध्यादेश,

16 – नई आबकारी नीति को मिली मंजूरी
दो साल के लिए दी जाएगी शॉप,
ई टेंडरिंग से होगा वितरण,
नए सिरे से राजश्व का होगा निर्धारण,
देशी शराब की दुकानों पर बिकेगी बियर,

17 – निगम क्षेत्रो में रात 11 बजे तक खुलेगी शराब की दुकानें,

पहाड़ी क्षेत्रों में रात 10 बजे तक खुलेगी शराब की दुकानें,

धर्म और संस्कृति