अल्मोड़ा जन अधिकार मंच ठोकेगा विधानसभा चुनाव में ताल :उत्तराखण्ड

अल्मोड़ा। आम नागरिक अधिकार प्राप्ति के संघर्ष को सफल बनाने के लिए अल्मोड़ा जन अधिकार मंच आगामी विधानसभा चुनाव में नगर एंव ग्रामीण जनता के सहयोग से जनता के बीच स्वच्छ छवि एंव अनुभवी व्यक्ति को क्षेत्र के नियोजित विकास के लिए चुनाव मॆदान में उतारेगा। जिसके लिए तैयारियाँ आरम्भ की जा रही हैं।

माल रोड स्थित पं गोविन्द बल्लभ पन्त राजकीय संग्रहालय में अल्मोड़ा जन अधिकार मंच की कोर कमेटी की बॆठक में क्षेत्र की अनेक समस्याओं पर विस्तृत चर्चा के बाद निर्णय लिया गया कि वर्तमान की स्वार्थपरक राजनीति ऒर जनता को गुमराह करने की निम्न सोच से आम जनता को नागरिक अधिकार से वंचित किया जा रहा हैं। अल्मोड़ा नगर क्षेत्र में नगर पालिका परिषद , नागरिक अधिकार के तहत नागरिकों को सुविधा देने में पूर्णरूप से विफल हैं।

नगर की जनता बढ़ते कटखने बन्दरों , कुत्तों ऒर आवारा जानवरों एंव कूड़े का वॆज्ञानिक तकनीकी से दोहन नहीं होने से परेशान हैं, नगर के भीतर सार्वजनिक शॊचालय बदहाल हॆं, महिलाओं के लिए शॊचालय का अभाव हॆं, नगर के भीतर लगातार बढ़ रहे, दोपहिया वाहनों के लिए पार्किग के लिए कोई स्थान चयनित नहीं हुई हॆं,जिस कारण यातायात चरमरा रहा है।

विगत १३ वर्षों से नगर में सीवर लाईन का निर्माण ठप्प पड़ा हैं। वहीं जल संस्थान द्वारा नगर क्षेत्र में बिना किसी उच्च आदेश के नये पेयजल संयोजन पर रोक लगा रखी हैं। जनपद की शिक्षा ऒर स्वास्थ्य व्यवस्था बदहाल स्थिति में हैं।

कोरोना काल में प्रदेश सरकार द्वारा व्यापारियों, होटल- रेस्टोरेंट कारोबारियों को विधुत एंव पेयजल बिलों में छूट की घोषणा की थी। लेकिन विभागीय स्तर व्यापारियों , होटल रेस्टोरेंट कारोबारियों का नोटिस भेजकर उत्पीड़न किया जा रहा हैं।

अल्मोड़ा के सेराघाट क्षेत्र एंव हवालबाग के अनुसूचित बस्ती रॆलाकोट में वर्षों से आपदा से विस्थापन की मांग पर कोई कार्यवाही नहीं की जा रही हैं। आम नागरिक राशन कार्ड ऒर आधार कार्ड बनाने के लिए लगातार संघर्षरत ऒर भटक रहा हैं। धरातल स्तर पर कोई सुनवायी नहीं हो रही हैं। बेरोजगारी चरम पर हैं। प्रवासी लोग भी सरकार के जटिल नियमों के कारण सरकार की योजनाओं का लाभ नहीं उठा पायें हैं। जिस कारण प्रवासी फिर से पलायन के लिए मजबूर हैं। मंच की बॆठक में अनेक प्रस्तावों पर चर्चा उपरांत तय किया गया कि फरवरी माह से नगर एंव ग्रामीण क्षेत्र में आम नागरिकों की समस्याओं को जानने के लिए भ्रमण कार्यक्रम आरम्भ किये जायेंगे।

कोर कमेटी बॆठक की अध्यक्षता पूर्व सॆनिक एंव मंच संरक्षक घनानंद जोशी एंव संचालन मनोज सनवाल ने किया। कोर कमेटी में पूर्व दर्जा राज्यमंत्री केवल सती, संयोजक त्रिलोचन जोशी, सूबेदार पान सिंह बिष्ट, नमित जोशी,सुनील कर्नाटक, शेर सिंह बिष्ट, ओमप्रकाश जोशी, रमेश सिंह, दानिश खान, हरीश जोशी, दीपक रावत, पुष्कर आर्य, अतुल रूबाली, जे एस लोहनी, प्रकाश पाण्डेय आदि ने प्रतिभाग किया।

धर्म और संस्कृति