तो 4 जनवरी को देहरादून में होगी खुली बहस, मनीष सिसोदिया ने ‘त्रिवेंद्र मॉडल बनाम केजरीवाल मॉडल’ पर मंत्री मदन कौशिक को लिखी चिट्ठी :उत्तराखण्ड

दिल्ली/देहरादून। उत्तराखण्ड सरकार में वरिष्ठ मंत्री व सरकार के प्रवक्ता मदन कौशिक के नाम पत्र लिख कर दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने “केजरीवाल मॉडल बनाम त्रिवेंद्र रावत मॉडल” को बहस का मुद्दा बनाते हुए, 4 जनवरी को देहरादून में आ कर खुली बहस का निमंत्रण दिया है।

उत्तराखण्ड के मंत्री मदन कौशिक को खुली बहस की चुनौती देते हुए डिप्टी सीएम दिल्ली मनीष सिसोदिया ने उन्हें देहारादून में 4 जनवरी को बुलाया है। मदन कौशिक को 6 जनवरी को दिल्ली आने का न्योता भी सिसोदिया ने दिया है। सिसोदिया ने कौशिक को आमंत्रित करते हुए कहा कि वे दिल्ली के सरकारी स्कूलों में किए गए बदलाव उत्तराखण्ड के मंत्री मदन कौशिक को दिखाना चाहते हैं।

पत्र में सिसोदिया ने लिखा, ”मैं आपको दिल्ली में केजरीवाल सरकार द्वारा शिक्षा,स्वास्थ्य और महिला सुरक्षा के क्षेत्र में किए गए कार्यों की जानकारी दूंगा।”

पत्र में सिसोदिया ने लिखा कि उत्तराखण्ड के लोगों को जानने का हक है कि उनकी अपेक्षाओं को कौन पूरा कर सकता है। BJP और AAP नेता बहस मुद्दों पर करेंगे तो सच्चाई का पता लोगों को खुद ही पता चल जाएगा।

पत्र में सिसोदिया ने लिखा कि मुझे जानकार खुशी हुई कि आप अपनी सरकार द्वारा किए गए कामों पर बहस करना चाहते हैं। यहां सिसोदिया ने उस बात का हवाला दिया जब मदन कौशिक ने कहा था कि वे सिसोदिया को कहीं भी रावत सरकार के किए गए 100 कामों को गिना सकते हैं। मंत्री मदन कौशिक को लिखे पत्र में सिसोदिया ने रावत सरकार पर आरोप लगाया कि उन्होंने पहाड़ी राज्य के लोगों के लिए कुछ काम नहीं किया। रावत का परिचय लोग शून्य काम करने वाले सीएम के तौर पर देते हैं।

सिसोदिया ने लिखा कि उत्तराखण्ड के लोगों के लिए इससे अच्छा कुछ और नहीं हो सकता कि वे विपक्ष और सरकार को आपस में काम पर बहस करता देखेंगे।

पत्र में मनीष सिसोदिया ने लिखा कि मुझे बहुत खुशी होगी कि आप अगर दिल्ली आकर दिल्ली में हुए बदलावों को देखेंगे। मनीष सिसोदिया ने कहा कि उम्मीद है कि आप अपनी बातों से पीछे नहीं हटेंगे।

अंत मे सिसोदिया ने कौशिक को नए साल की बधाई भी दी है।

पत्र देखें-

धर्म और संस्कृति