कांग्रेस प्रदेश महामंत्री याकूब सिद्दकी ‘दरोगा’ से ‘टिहरी’ में मारपीट के आरोप में गिरफ्तार, 14 दिन के लिए भेजा जेल :उत्तराखण्ड

टिहरी गढ़वाल। उत्तराखण्ड कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री और पूर्व दर्जाधारी याकूब सिद्दीकी को पुलिस ने गिरफ्तार कर, याकूब को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से कोर्ट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

टिहरी के बौराड़ी में कांग्रेस महामंत्री पर दरोगा से मारपीट का आरोप-
याकूब सिद्दीकी पर टिहरी गढ़वाल के बौराड़ी में पुलिस के साथ मारपीट करने का आरोप है। पुलिस ने बौराडी नई टिहरी में याकूब सिद्दकी सहित चार लोगों के खिलाफ नामजद और 10 अन्य के खिलाफ मारपीट व अन्य मामलों में मुकदमा दर्ज है।

दरोगा से मारपीट मामले में पुलिस याकूब सिद्दीकी के भाई अब्बास को पहले ही हिरासत में ले चुकी थी। उसे कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था।

उत्तराखण्ड कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री याकूब सिद्दकी को पुलिस ने गुरुवार को देहरादून से गिरफ्तार किया। पुलिस दो अन्य नामजद आरोपियों की तलाश में जुटी है।

यह था मामला-
आपको बता दें कि बौराड़ी में सिद्दीकी आदि द्वारा पुलिसकर्मी से मारपीट के आरोप में गिरफ्तार किया गया। पुलिस का कहना है कि उनके द्वारा पहले पुलिस के एक दरोगा के साथ अभद्रता की गई और उसके बाद मारपीट की गई।

सूचना के अनुसार कांग्रेस नेता सिद्दीकी, भाई अब्बास एवं साथियों ने SI मनोज सिंह नेगी, चौकी इंचार्ज डूगीधार, नयी टिहरी के साथ बहुत अपमान जनक शब्दों का प्रयोग करते हुए मारपीट की।

जानकारी के अनुसार दरोगा मनोज नेगी क्षेत्र में भ्रमण कर रहे थे, तो सिद्दीकी एवं उसके साथी सडक पर कुर्सी डालकर बैठे थे। दरोगा ने आम सड़क में व्यवधान उतपन्न न करने के लिए कहा। इसी बात पर उत्तेजित होकर सिद्दीकी और साथियों ने दरोगा मनोज सिंह नेगी के साथ गालीगलौच, अभद्रता व मारपीट करने लगे। उस समय वहां भारी भीड़ जमा हो गई।

सोशल मीडिया पर उठी आवाज-
सोशल मीडिया पर लोगों का कहना है कि कट्टपंथीयों द्वारा टिहरी में दरोगा के साथ मारपीट देवभूमि उत्तराखंड के लिए शुभ नहीं। ऐसे ही चलता रहा तो आने वाले कुछ सालों में बहिनों बेटियां की अस्मिता बचाने का संकट खडा हो जायेगा। टिहरी में विधर्मियों द्वारा अनेक लड़कियों को भगाने के मामले भी प्रकाश में आते हैं। लोगों ने पुलिस से अति शीघ्र ऐसे लोगों पर कठोर कार्यवाही करने की मांग की थी। 

धर्म और संस्कृति