उत्तराखण्ड: 2 नवम्बर से स्कूल खुलते ही 1 बच्चा पॉजिटिव, 15 छात्र-छात्राएं आइसोलेट

उत्तराखण्ड में आज 2 नवम्बर से स्कूल खोल दिए गए हैं। स्कूलों को खोले जाने के सरकार की ओर से आदेश जारी किए गए थे। अभी सिर्फ 10वीं व 12वीं स्कूल खोले गए हैं।

सरकारी आदेशों के बाद भी सरकारी स्कूलों के साथ ही चंद प्राइवेट स्कूलों को छोड़कर कहीं भी स्कूल संचालित नहीं हो रहे हैं। प्राइवेट स्कूल संचालकों के अनुसार अभिभावक अभी अपने बच्चों को स्कूल भेजने को तैयार नहीं है, जिसके चलते प्राइवेट स्कूलों को नहीं खोला जा रहा है।

स्कूल खोलने के आदेश के बाद स्कूल खुलने के पहले दिन ही रानीखेत के एक स्कूल में एक छात्र कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। सोमवार को उत्तराखण्ड के स्कूलों में दसवीं और बारहवीं की कक्षाएं खुलने पर रानीखेत के मिशन इंटर कॉलेज में छात्र-छात्राएं स्कूल पहुंचे। स्कूल में एक छात्र कोरोना पॉजिटिव पाया गया। छात्र के पॉजिटिव आने के बाद विद्यालय में हड़कंप मच गया।

स्कूल की प्रधानाचार्य ने बताया कि विद्यालय परिसर में सभी छात्र-छात्राओं के साथ संक्रमित छात्र की भी थर्मल स्कैनिंग की गई थी, जिसमें उसका तापमान सामान्य पाया गया था। सोमवार को छात्र के परिजन राजकीय चिकित्सालय में बुखार आदि का उपचार कराने पहुँचे तो वो टैस्ट में पॉजिटिव पाए गए।

रैपिड टैस्ट में दो अभिभावकों के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद विद्यालय से छात्र को भी जांच के लिए अस्पताल लाया गया। जाँच के बाद छात्र भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया।

सूचना मिलने के बाद संयुक्त मजिस्ट्रेट अपूर्वा पाण्डे ने स्कूल को तीन दिन के लिए सील करवा दिया। प्रशासन और एन्टी कोविड टीम ने पॉजिटिव आए छात्र की कक्षा और वहां मौजूद पंद्रह छात्र-छात्राओं को भी आइसोलेशन में भेज दिया है।

धर्म और संस्कृति