देहरादून। रविवार को त्रिवेणी घाट में अन्य दिनों की अपेक्षा गंगा सुबह से अपने उफान पर नजर आई। इस दौरान घाट की सीढ़ियां जलमग्न हुई नजर आईं।

सुबह आठ बजे गंगा का जलस्तर 338.70 मीटर रहा। तो दोपहर बाद गंगा के जलस्तर में और वृद्घि नजर आई। इस दौरान गंगा का स्तर 338.80 मीटर पर रहा।

सिंचाई विभाग की ओर से 339.5 मीटर पर खतरे का निशान लगाया गया है। सहायक अभियंता मंगल सिंह ने बताया कि पहाड़ों में हो रही लगातार बारिश के कारण गंगा में जलस्तर में वृद्घि हो रही है। उन्होंने बताया कि रविवार को गंगा का जलस्तर खतरे के निशान के काफी नजदीक रहा है।

बता दें कि उत्तराखण्ड के पहाड़ों पर लगातार बारिश जारी है जिसके कारण गंगा उफान पर है। गंगा उफान पर आने से उत्तराखण्ड के ऋषिकेश व हरिद्वार के निचले इलाकों में जल भराव की स्थिति उत्पन्न होती रही है।

साथ ही गंगा का जलस्तर जल्द कम न हुआ तो उत्तर प्रदेश व बिहार में बाढ़ का खतरा भी हो सकता है।

धर्म और संस्कृति