ऑनर किलिंग: पिता ने की नाबालिक गर्भवती बेटी की हत्या, बलात्कारी पुलिस की गिरफ्त से बाहर :उत्तराखण्ड

बागेश्वर। एक पिता ने अपनी छठी कक्षा में पढ़ने वाली नाबालिक गर्भवती बेटी को गला दबाकर मार डाला, और फिर शव को गड्ढा खोद कर उसमें गाड़ दिया।

मामले का खुलासा बागेश्वर पुलिस ने किया है। ग्राम मंतोली हाल निवासी जेठाई, थाना कांडा प्रकाश चन्द्र काण्डपाल पुत्र लक्ष्मी दत्त काण्डपाल उम्र 38 वर्ष ने अपनी नाबालिग बेटी का गला दबाकर हत्या कर दी।

प्रकाश ने पुलिस को बताया कि उसकी बेटी अपने दादा-दादी के पास रहती थी। 7 जुलाई को परिवार को पता चला कि वह गर्भवती है। जिसके बाद परिवार में कहा सुनी हो गई थी। रात के अंधेरे में उसने अपनी बेटी का गला दबाकर हत्या कर दी।

अगले दिन गांव वालों को लोकलाज के कारण बेटी ने आत्महत्या की कहानी गांव वालों को बता कर नाबालिक लड़की को गड्ढे में दबा दिया गया।

बेटी की माँ ने 9 जुलाई को अज्ञात के खिलाफ बेटी के साथ बलात्कार करने व आत्महत्या के लिए प्रेरित करने की तहरीर पुलिस को दी।

पुलिस ने थाना कांडा में 376/306 व 5(ल)/6 पोस्को एक्ट में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की। जिलाधिकारी के आदेश पर नाबालिक के शव को निकाला गया। जिला चिकित्सालय बागेश्वर में शव का पोस्टमार्टम किया गया। पोस्टमार्टम में गला दबा कर हत्या किया जाना सामने आया।

पुलिस ने ऐसे में पड़ोसियों व परिजनों से पूछताछ की गई। लड़की के पिता की जंजारी स्पष्ट न होने पर उसकी बातों पर पुलिस को शक हुआ व पिता से कढ़ाई से पूछताछ ने सच उगल दिया।

पुलिस द्वारा दर्ज मामले में धारा 302 201 की बढ़ोतरी कर जांच को आगे बढ़ाया जा रहा है। नाबालिक के साथ बलात्कार करने वाला अभी भी खुला घूम रहा है।

धर्म और संस्कृति