देहरादून। कोरोना संक्रमण-लॉक डाउन-अनलॉक के बीच अब 01 जुलाई से उत्तराखण्ड के चारधाम (बद्रीनाथ धाम, केदारनाथ धाम, गंगोत्री व यमुनोत्री) की यात्रा को हरी झंडी दे दी गई है।

उत्तराखण्ड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने इसके आदेश सोमवार को जारी किए।

सिर्फ उत्तराखण्ड के यात्री ही चारधाम यात्रा कर पाएंगे।

एक धाम क्षेत्र में यात्री एक रात ही रुक सकेंगे, आपातकालीन परिस्थितियों में समय बढ़ाया जाएगा।

65 वर्ष से अधिक व 10 वर्ष से कम उम्र के बुजुर्ग व बच्चे यात्रा नहीं कर पाएंगे।

गर्भ गृह व गर्भगृह से जुड़े सभा पंडाल के अग्र भाग में जाने की किसी को भी अनुमति नहीं होगी।

मन्दिर में प्रवेश से पूर्व हाथ पैर धोने अनिवार्य हैं।

मन्दिर परिसर से बाहर से लाए गए चढ़ावे या प्रसाद को मन्दिर परिसर में लाना मना है।

मूर्तियों के स्पर्श की स्पष्ट मनाही रहेगी।

मास्क, सेनिटाइजर, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य होगा।

धर्म और संस्कृति