95 वीं जयंती पर पर्वतीय गांधी बडोनी को आंदोलनकारी, कांग्रेस, यूकेडी व सरकार ने किया याद

उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलनकारी मंच ने उत्तराखण्ड के पर्वतीय गांधी स्वर्गीय इन्द्रमणी बडोनी की 95 वीं जयंती पर इस वर्ष भी पूर्व की भांति संस्कृति दिवस के रूप मे मनाया।प्रातः राज्य आन्दोलनकारियों व सरकार के दो कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक और सुबोध उनियाल ने  इंद्रमणि बडोनी को  श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए  सभा को संबोधित करते हुए  स्वर्गीय इंद्रमणि बडोनी के योगदान को याद किया। संस्कृति विभाग के द्वारा उत्तराखंडी संस्कृति के तहत गीत संगीत के माध्यम से गीत संगीत की धुनों पर सभी थिरकने को मजबूर हुए।

उत्तराखण्ड प्रदेश कांगे्रस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने उत्तराखण्ड आन्दोलन के जननायक एवं प्रणेता स्व0 इन्द्रमणि बडोनी जी की जयन्ती पर उन्हें याद करते हुए भावभीनी श्रद्वांजलि अर्पित की। प्रीतम सिंह ने कहा कि स्व0 बडोनी जी के अगुवाई में उत्तराखण्ड के जनमानस ने उग्र आन्दोलनकर उत्तराखण्ड राज्य को हासिल किया है। उन्होंने कहा कि उनमें गजब की नेतृत्व क्षमता थी। उन्होंने राज्य आन्दोलन को घर-घर पहुॅचाकर युवाओं और महिलाओं को आन्दोलन में आने को प्रेरित किया उनके नेतृत्व क्षमता को देखकर तब बी0बी0सी0 ने कहा था कि ’’आपने यदि जीवित एवं चलते-फिरते गांधी को देखना है तो उत्तराखण्ड की धरती पर चले जायें। वहां गांधी आज भी अपनी उसी अहिंसक अन्दाज में विराट जनआन्दोलन का नेतृत्व कर रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड उनके संघर्ष को कभी नही भुला सकता।

उत्तराखंड क्रान्ति दल द्वारा पहाड़ के गांधी, राज्य आंदोलन के प्रणेता स्व० इंद्रमणि बड़ोनी जी का 94 जयंती  जो संस्कृति दिवस के रूप में मनाया जाता है पार्टी कार्यालय 10 कचहरी रोड़ देहरादून स्व० बड़ोनी जी को श्रद्धांजलि देते हुए याद किया। ततपश्चात घंटाघर बड़ोनी जी की प्रतिमा में दल के द्वारा श्रधांजलि दी गयी। इस अवसर पर दल के पूर्व अध्यक्ष बी डी रतूड़ी  ने कहा कि स्व०बड़ोनी के संघर्षों, विचारों को कभी भुलाया नही जा सकता, राज्य आंदोलन का नेतृत्व गांधीवादी रूप से बड़ोनी जी ने चलाया इसीलिए उनको पहाड़ का गांधी नाम दिया गया है। स्व० बड़ोनी  को नमन करते हुए दल के नेता लताफत हुसैन ने उनके राज्य संघर्षों के संस्मरण बताये। कार्यक्रम का संचालन महानगर अध्यक्ष सुनील ध्यानी ने किया। इस अवसरपर सर्व हरीश पाठक, ए पी जुयाल, श्रीमती रेखा मिंया,विजय बौड़ाई, प्रह्लाद सिंह रावत, धर्मेंद्र कठैत, अशोक नेगी, राजेन्द्र बिष्ट, विजेंद्र रावत, उत्तम रावत,जितेंद डंगवाल, कमलाकांत,अजित पंवार, राजेश्वरी रावत, ऐनी थापा, समीर मुखर्जी आदि थे।

वहीं उत्तराखण्ड कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने राज्य आन्दोलन के शिखर पुरुष स्व0 इंद्रमणि बडोनी जी को आज उनकी जयन्ती पर उनकी पवित्र जन्म भूमि अखोड़ी की रज माथे पर लगाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

धर्म और संस्कृति