पुलवामा व एयर स्ट्राइक के बाद पाक का विमान समझकर सेना की मिसाइल ने मार गिराया था खुद का ही हेलीकॉप्टर: 6 जवान हो गए थे शहीद

इंडियन एयरफोर्स ने पाकिस्तान का लड़ाकू विमान समझ कर अपना ही हेलीकॉप्टर 27 फरवरी 2019 को मार गिराया था। ये बात उन छह जवानों की है जो कि जो जम्मू-कश्मीर के बड़गाम जिले में बुधवार (27/02/2019) को चॉपर Mi-17 क्रैश में शहीद हो गया थे… इस हादसे में एक स्थानीय नागरिक ने भी अपनी जान गंवाई। इस हादसे में स्क्वाड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ट, स्क्वाड्रन लीडर निनाद अनिल मांडवगणे, विशाल कुमार पांडे, सार्जेंट विक्रांत सेहरावत, दीपक पांडे और पंकज कुमार शहीद हुए थे।

अब हेलिकॉप्टर में 6 जवान और जमीन पर एक नागरिक की मौत के लिए जिम्मेदार लोगों पर वायु सेना अधिनियम 1950 के सैन्य कानून के तहत गैर इरादतन हत्या का मामला चलाया जा सकता है…

इस मामले में सबूतों की पूरी सारणी इसके तुरंत बाद पेश की जाएगी और हेलिकॉप्टर में 6 जवान और जमीन पर एक नागरिक की मौत के लिए जिम्मेदार लोगों पर वायु सेना अधिनियम 1950 के सैन्य कानून के तहत गैर इरादतन हत्या का मामला चलाया जा सकता है।

खबरों की माने तो ’27 फरवरी को श्रीनगर हवाई अड्डे से एक इजरायल निर्मित स्पाइडर और सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल के प्रक्षेपण के परिणाम पर कोई संदेह नहीं था। जांच में समय इसलिए लगा है क्योंकि भारतीय वायुसेना को इस घटना के लिए दोषी ठहराया गया है। पूरी घटना 12 सेकेंड के अंदर हुई, Mi हेलिकॉप्टर को इस बात की जानकारी नहीं थी कि वह हमले के दायरे में है।’ बता दें कि 27 फरवरी की सुबह 10 से 10.30 के बीच 8 भारतीय वायुसेना के जवान, F-16 के 24 पाकिस्तानी वायुसेना के जवानों को रोकने के लिए गए थे। F-16 ने LoC पार कर लिया था और वह भारतीय सेना पर निशाना साध रहा था।

इस हादसे में एक स्थानीय नागरिक ने भी अपनी जान गंवाई। साथ ही हादसे में स्क्वाड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ट, स्क्वाड्रन लीडर निनाद अनिल मांडवगणे, विशाल कुमार पांडे, सार्जेंट विक्रांत सेहरावत, दीपक पांडे और पंकज कुमार शहीद हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

धर्म और संस्कृति