The95news| Big Breaking अब उत्तराखण्ड की शीला रावत गिरफ्तार। उत्तराखण्ड पुलिस ने किया गिफ्तार। शान्तिपूर्ण ढंग से दे रही थी धरना। शीला रावत के साथ धरने पर बैठे अन्य साथियों को भी देहरादून पुलिस गिरफ्तार कर ले गयी। लगता है अब महिलाओं का शांतिपूर्ण धरना भी उत्तराखण्ड की त्रिवेंद्र रावत सरकार को बर्दाश्त नही।

शीला के धरने का 73वां दिन

आज दिनांक 10 जुलाई 2018 को शीला रावत को उत्तराखण्ड स्पेस एप्लिकेशन सेंटर (USAC) के बाहर धरने पर 73वां दिन हो गया है। 13 अप्रैल से शीला रावत धरने पर है।

18 जून 2018 से जयंत शाह, देवेंद्र रावत, दीपक भंडारी, सोहन सिंह नेगी, अरुण कुमार, मोहन दास को भी सरकार ने कार्यालय से निकल बाहर किया तो वो 6 अन्य भी 18 जून से शीला रावत के साथ धरने पर लगातार बैठें हैं।

बतातें चलें कि ये मामला भी शिक्षक का ही है। महेंद्र प्रताप सिंह बिष्ट जिला पौड़ी के श्रीनगर के HNB गढ़वाल यूनिवर्सटी में एसोसिएट प्रोफ़ेसर के पद पर तैनात थे। जिन्हें त्रिवेंद्र रावत की बीजेपी सरकार ने प्रतिनियुक्ति पर उत्तराखण्ड स्पेस एप्लिकेशन सेंटर (USAC) में बतौर डायरेक्टर आये हैं। और उन्होंने यहां आते ही सर्वप्रथम 2011 से कार्य कर रही शीला रावत को सेवा से हटा दिया।

उत्तरा पंत बहुगुणा के बाद शीला रावत की गिरफ्तारी भी त्रिवेंद्र सिंह रावत की बीजेपी सरकार के लिए अब गले की हड्डी बन सकती है। उत्तरा पंत बहुगुणा, आशा देवी, शीला रावत जैसी उत्तराखंडी महिलाएं अपनी जंग लड़ रही हैं और त्रिवेंद्र रावत की बीजेपी सरकार महिला उत्पीड़न में मशगूल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

धर्म और संस्कृति